टॉप न्यूज़

Saharanpur: कलेक्टर ने की कड़ाई, समीक्षा बैठक में कोविड-19 मरीज़ों की देखरेख और सुरक्षा पर कही बड़ी बातें

सहारनपुर : कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरूस्त रखें : जिलाधिकारी अखिलेश सिंह

कोविड मरीजों की गहन माॅनीटरिंग जरूरी- अखिलेश सिंह

कोरोना के बचाव के लिए चौराहों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम से जानकारी दी जाए

✍गौरव सिंघल, विशेष संवाददाता

सहारनपुर। जिलाधिकारी सहारनपुर अखिलेश सिंह ने कहा है कि कोविड अस्पतालों की व्यवस्थाओं को और अधिक चुस्त-दुरुस्त बनाया जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ, वाॅर्ड्स में नियमित राउण्ड लें। डाॅक्टरों तथा पैरामेडिक्स को प्रशिक्षित करने की प्रक्रिया लगातार जारी रहे। उन्होंने कोविड चिकित्सालयों में बैड्स की संख्या में आवश्यकतानुसार वृद्धि की जाए। उन्होंने कहा कि काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का कार्य पूरी तेजी से संचालित किया जाए। इसके लिए सर्विलान्स टीम डोर-टू-डोर सर्वे का कार्य भी जारी रखें। अखिलेश सिंह आज यहां कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 की समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों की गहन माॅनीटरिंग निरंतर की जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक करने की कार्यवाही को लगातार जारी रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जब तक इस रोग की कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन विकसित नहीं हो जाती, तब तक बचाव ही सबसे अच्छा उपाय है। इसलिए कोविड-19 के सम्बन्ध में जागरूकता की कार्यवाही प्रभावी ढ़ग से लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि जिन विभागों के पास अपने पब्लिक एड्रेस सिस्टम है वो कोविड-19 से बचाव का प्रचार-प्रसार भी करें। नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह ने अवगत कराया कि नगर निगम की 32 गाडियों में पब्लिक एड्रस सिस्टम लगा दिया गया है। डीएम ने कहा कि प्रमुख चौराहों तथा अम्बेडकर चौक व दीवानी में भी सिस्टम को लागू कराया जाये। तहसील स्तर पर भी स्थानों का चयन करते हुए प्रमुख चौराहों पर पब्लिक एड्रैस सिस्टम को लगवाया जाये। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने प्राचार्य मेडिकल काॅलेज को निर्देश दिये कि लैब में जो भी सामग्री की आवश्यकता है उसे तत्काल पूरा करा लिया जाए। उन्होंने कहा कि आॅक्सीजन सिलेण्डरों की नियमित जांच की जाए। उन्होंने कहा कि सिलेण्डरों के वजन में यदि अंतर पाया जाता है तो आपूर्ति करने वाली कम्पनी के विरूद्ध कार्रवाही की जाए। प्राचार्य मेडिकल काॅलेज ने बताया कि मेडिकल काॅलेज में जो आक्सीजन पैनल लगाये गये थे वह राजकीय निर्माण निगम ने ठीक करा दिये है। मेडिकल काॅलेज में नियमित रूप से आॅक्सीजन सिलेण्डर आ रहे है।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन एस0बी0सिंह ने अवगत कराया कि कन्टेनमेन्ट जोन में 16 परिवार ऐसे है। जिसमें दवाएं नहीं दी गयी। 23 परिवारों में आईबर वैक्सीन नहीं दिया गया। डीएम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि ऐसे परिवारों को चिन्हित कर दवा की समुचित व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना ईलाज व दवा के न रहने पाये। उन्होंने कहा कि इन कार्यों पुर्नावृति अक्षम्य होगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रणय सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक यातायात प्रेमचन्द, मेडिकल काॅलेज के प्रधानाचार्य डाॅ0डी0एस0मार्तोलिया, एसडीएम सदर अनिल कुमार सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी राजेन्द्र प्रसाद, सहायक नगर स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ0 कुनाल जैन तथा विभागीय अधिकारीगण मौजूद रहे।

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.