पांडेयजी तो बोलेंगे

उत्तर प्रदेश में 2 दिन के लॉकडाउन के पीछे सरकार का मक़सद क्या है?

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक सप्ताह शनिवार और रविवार का लॉक डाउन रखने का निर्णय लिया है. तकरीबन 55 घंटे का लॉकडाउन आने वाले सप्ताहों में जारी रहेगा. इससे पूर्व सरकार ने 9 तारीख को 10 जुलाई की रात 10:00 बजे से लेकर 13 जुलाई की सुबह 5:00 बजे तक लॉकडाउन रखने का निर्णय लिया था जिसकी मियाद आज सुबह ही पूरी हुई और बाजार और ऑफिस पूर्व की तरह खुलने लगे.
इन सबके बीच सबसे दिलचस्प यह है कि जब एम्स के डायरेक्टर ने लॉकडाउन के लिए 14 दिन की वकालत की थी तो 2 दिन की लॉकडाउन में सरकार कोरोना के संक्रमण को कैसे रोकेगी इसके लिए सरकार ने अपना तर्क दिया है.
रविवार को प्रेस ब्रीफिंग में एडिशनल चीफ सेक्रेटरी गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने इसके पीछे का कारण भी बताया है. दरअसल, सरकार कोरोना के संक्रमण को रोकना चाहती है जिसके चलते प्रत्येक सप्ताह 55 घंटे का लॉक डाउन रखा जाएगा.

लॉकडाउन के 55 घंटे में सरकार क्या करेगी

प्रदेश सरकार के आदेश के अनुसार पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को साप्ताहिक बंदी रखी जाएगी. इस बंदे के दौरान सभी बाजारों की स्वच्छता और सैनिटाइजेशन को लेकर विशेष अभियान चलाया जाएगा. इतना ही नहीं औद्योगिक इकाइयों को भी शनिवार व रविवार को अपने सैनिटाइजेशन का कार्य कराने का निर्देश दिया है. यानी कुल मिलाकर कहें तो सरकार अपने 2 दिन के लॉक डाउन के आर्डर के पीछे सैनिटाइजेशन का काम करा कर कोरोना के संक्रमण को रोकना चाहती है. साथ ही साथ 2 दिन लोगों के घर रहने से चैन भी टूटेगी जिससे बचा जा सकेगा.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध