पॉलिटिकल खास

उत्तर प्रदेश : प्रियंका के गूगली पर योगी सरकार का मास्टर स्ट्रोक, प्रियंका बोलीं धन्यवाद

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस के काल में एक नया राजनीतिक दांवपेच देखने को मिला है. यदि सब कुछ ठीक रहा और धरातल पर उतरा तो निश्चित तौर पर राजनीति से ऊपर उठकर समाज हित में यह बड़ा कदम होगा. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के गाजियाबाद और नोएडा से प्रवासी श्रमिकों के लिए कांग्रेस द्वारा 1000 बसों को चलाने की मांग उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वीकार कर ली है. प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए एडीशनल चीफ सेक्रेट्री अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रियंका गांधी को पत्र लिखकर 1000 बसों की लिस्ट ड्राइवर और परिचालक के नाम मांगे हैं. योगी सरकार की अनुमति के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद किया है.
दरअसल 16 मई को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने पार्टी की ओर से उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर पलायन कर रहे मजदूरों के लिए राज्य सरकार की ओर से उनके घर पहुंचाने के लिए हुई व्यवस्था से नाखुशी जताई थी. उन्होंने गाजीपुर बॉर्डर गाजियाबाद और नोएडा बॉर्डर से पांच पांच सौ बसें चलाने की कांग्रेस की ओर से इच्छा जाहिर की थी. कांग्रेस महासचिव ने बसों के खर्चे के संबंध में पार्टी का हवाला दिया था और यह कहा था कि बसों का पूरा खर्च कांग्रेस पार्टी उठाएगी. उन्होंने कहा था कि कांग्रेस बसों के परिचालन के लिए सरकार की अनुमति चाहती है. 16 मई के बाद से प्रियंका गांधी लगातार सरकार पर सवाल खड़े कर रही थीं. उनका आरोप था कि योगी आदित्यनाथ उनकी 1000 बसों को चलाने की पेशकश नहीं मान रहे हैं.

एडिशनल चीफ सेक्रेटरी ने सरकार की ओर से प्रियंका गांधी वाड्रा से मांगे डिटेल

प्रियंका गांधी के लगातार आक्रामक रहने के बाद से उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रियंका गांधी के निजी सचिव को पत्र लिखकर बसों के संबंध में विवरण मांगा है. समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि राज्य प्रशासन को पूरा ब्यौरा जल्द ही उपलब्ध करा दिया जाएगा. प्रियंका गांधी ने अपने टि्वटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा

“योगी आदित्यनाथ जी महामारी के समय इंसान की जिंदगी को बचाना, गरीबों की रक्षा करना, उनकी गरिमा की हिफाजत करना, हमारा नैतिक दायित्व और अधिकार है. कांग्रेसी इस कठिन समय में अपनी पूरी क्षमता और सेवा ग्रुप के साथ अपने कर्तव्य का पालन कर रही है.”

उन्होंने आगे कहा

“यह बसें हमारी सेवा का विस्तार है. हमें यूपी में पैदल चलते हुए हजारों भाई बहनों की मदद करने के लिए कांग्रेस के खर्चे पर 1000 बसों को चलाने की इजाजत देने के लिए आपको धन्यवाद. उत्तर प्रदेश कांग्रेस की ओर से मैं आपको आश्वस्त करती हूं कि हम सकारात्मक भाव से महामारी और उसके चलते लॉक डाउन की वजह से पीड़ित उत्तर प्रदेश के अपने भाई बहनों के साथ इस संकट का सामना करने के लिए खड़े रहेंगे.”

प्रियंका गांधी के सवालों पर उत्तर प्रदेश सरकार ने बसों की परमिशन दे दी है. अब ऐसे में कांग्रेस क्या रुख अपनाती है यह देखना दिलचस्प होगा. कांग्रेस पार्टी को अब ड्राइवर और बसों का विवरण उत्तर प्रदेश सरकार को देना है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.