एक्सक्लूसिव

OMG: 1200 किलोमीटर पैदल चले लेकिन घर पहुंचने से पहले ही पुलिस ने पकड़ लिया, फिर जानिए उनके साथ क्या हुआ

गोरखपुर. कोरोना के कहर को देखते हुए लॉक डाउन 2.0 को लागू किया गया. पहले चरण में धैर्य दिखाने वाले लोगों की उम्मीद दुसरे चरण के लागू होने के वाद खत्म हो गयी. जिसका नतीजा एक अफवाह के बाद मुंबई में देखा गया जहां ट्रेन मिलने की सूचना पर हजारों मज़दूर स्टेशन पर पहुंच गए.
ये खबर भी कमोवेश ऐसी ही है. दरअसल, नेपाल के रहने वाले दो युवक पंजाब के लुधियाना में काम करते थे. रोटी का संकट गहराने पर घर के लिए पैदल ही निकल पड़े. 1200 किलोमीटर की दूरी तय कर दोनों महाराज गंज पहुंचे लेकिन कनमिसवा के करीब सीमा पार करते वक्त एसएसबी के जवानों ने उन्हें पकड़ लिया. फिर क्या था दोनों को पुलिस को सौंप दिया गया और पुलिस ने दोनों को क्वारनटाइन कर दिया.

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक महाराज गंज ने कहा कि

प्रारंभिक जांच में दोनों युवकों के पंजाब के लुधियाना में 40 वर्षों तक काम करने की जानकारी प्राप्त हुई है लॉक डाउन में वहां फंस गए थे. पूछताछ में उनकी पहचान सलामत मियां और अनुमूल मियां निवासी पकड़ी जिला सप्तरी नेपाल के रूप में हुई है. वह कनमिसवा के पास से नेपाल में जाना चाहते थे. दोनों नेपाली नागरिक पहले सोनौली के रास्ते नेपाल में जाने का प्रयास कर रहे थे. सफल नहीं हुए तो कन मिसवा की ओर चले गए जमातीयों के वह संपर्क में नहीं थे.

-रोहित सिंह सजवाण, एसपी महाराजगंज

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध