बोल वचन खास

SAHARANPUR : समय लगाकर पढ़ लीजिए जिलाधिकारी की भारी भरकम पाबंदियां, अगर हो गयी चूक तो फिर लग जायेगा प्रतिबंध, एक एक शब्द आपके लिए जरूरी है

उत्तर प्रदेश का सहारनपुर. सरकार के दिशा निर्देश के मुताबिक जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने जिले को अनलॉक तो किया लेकिन साथ में ही 25 से अधिक महत्वपूर्ण पाबंदियां लगा दी. उन्होंने अपने आदेश में जहां सरकार के निर्देशों का हवाला दिया वही जनपद के लोगों को चेतावनी भी दी कि यदि 600 से अधिक मामले फिर से होते हैं तो पाबंदियों को लगाने में वह देरी नहीं करेंगे. बाजार से लेकर शादी तक, सफर से लेकर सामान तक जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने हर विषय पर प्रतिबंध के साथ छूट का ऐलान किया है. खास बात यह भी है कि जिले को 12 घंटे काम और 12 घंटे आराम की तर्ज पर रखा गया है. कहने का मतलब है कि 12 घंटे तक बाजार और आने जाने की अनुमति होगी लेकिन 12 घंटे बाद यानी शाम 7:00 बजे से सुबह 7:00 बजे तक कोरोना कर्फ्यू के चलते आप को घरों में कैद रहना होगा. माना जा रहा है कि जिलाधिकारी लगाम को ढील देने के मूड में नहीं है. उनके आदेश में यह साफ नजर आ रहा है. आम आदमी से जुड़े खास आदेश के हर पहलू को आप को पढ़ लेना चाहिए.

क्या बोले डीएम

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने सोमवार की शाम 3 पन्नों के अपने आदेश में शासन के निर्देश का हवाला दिया और कहा कि सहारनपुर में कंटेनमेंट जोन के बाहर 8 जून 2021 दिन मंगलवार से सुबह 7:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक कंटेंमेंट ज़ोन से बाहर गतिविधियों को करने की अनुमति होगी. हालांकि, रात का कर्फ्यू जारी रहेगा. इतना ही नहीं जिले में शनिवार और रविवार को भी साप्ताहिक बंदी और करोना कर्फ्यू लागू रहेगा.

क्या हुआ दुकानों का समय?

जिलाधिकारी के नए आदेश के मुताबिक जनपद के सभी दुकान और बाजार सुबह 7:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक यानी 12 घंटे खुलेंगे. वही रात के 7:00 से सुबह 7:00 तक कोरोना कर्फ़्यू जारी रहेगा. बाजार सप्ताह में 5 दिन ही खुल सकेंगे. शनिवार और रविवार को साप्ताहिक बंदी और कोरोना कर्फ़्यू जारी रहेगा.
सप्ताहिक बंदी के दौरान पूरे जिले में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन, फागिंग का अभियान चलाया जाएगा. दुकानदारों को सख्त निर्देशित किया गया है कि दुकान पर स्टाफ मास्क और 2 गज की दूरी के साथ सैनिटाइजर की व्यवस्था जारी रखें. इस व्यवस्था को ग्राहकों को भी पालन करना होगा. अन्यथा की स्थिति में दुकानदार और ग्राहक दोनों के साथ ही शक्ति बरती जाएगी. जिलाधिकारी ने कहा कि नियमों के उल्लंघन में महामारी अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी. सुपर मार्केट को भी मास्क की अनिवार्यता और 2 गज की दूरी और सैनिटाइजर की व्यवस्था के साथ खोलने की अनुमति दी गई है.

सरकारी कार्यालय का क्या हुआ

फ्रंटलाइन सरकारी विभाग जो कोरोना के अभियान से जुड़े हैं उसमें पूर्ण उपस्थिति और शेष सरकारी कार्यालयों में 50% उपस्थिति के साथ खोले जाने के आदेश जिलाधिकारी ने जारी किए. शेष 50% कर्मचारियों को रोटेशन के मुताबिक बुलाया जाएगा. हर कार्यालय में जिलाधिकारी ने कोविड-19 की स्थापना के लिए आदेशित किया है.

वहीं प्राइवेट कंपनियों के कार्यालयों में भी मास्क की अनिवार्यता 2 गज की दूरी और सैनिटाइजर के प्रयोग की गाइडलाइन के साथ खोले जाने की अनुमति दी गई है.

निजी कंपनियों को work-from-home की व्यवस्था को लागू करने के लिए कहा गया है. साथ ही साथ निजी कंपनियों को कोविड-19 हेल्प डेस्क की स्थापना के अनिवार्यता में के बंधन में बांधा गया है.

औद्योगिक संस्थान और संस्थाओं में काम करने वाले कर्मियों को अपने आईडी कार्ड या इकाई के प्रमाण पत्र के आधार पर आने-जाने की अनुमति होगी.

सब्जी मंडियों को खोलने की अनुमति दी गई है लेकिन जहां आबादी ज्यादा है वहां संचालित मंडियों को खुले स्थान पर संचालित कराते हुए खुलवाया जाएगा. सब्जी मंडी स्थल में भी कोविड-19 हेल्प डेस्क की स्थापना की अनिवार्यता की गई है.

रेलवे स्टेशन, रोडवेज में सैनिटाइजेशन, मास्क 2 गज की दूरी के साथ-साथ स्क्रीनिंग और एंटीजन टेस्ट भी की जाएगी जिससे लक्षण युक्त व्यक्तियों के उपचार हेतु अस्पताल भेजा जा सके. ऐसे स्थानों पर भी कोविड-19 और टेस्टिंग की व्यवस्था के लिए आदेशित किया गया है.

स्कूल कॉलेज पर जारी रहेगी तालाबंदी

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह के आदेश के मुताबिक स्कूल कॉलेज और शिक्षण संस्थान में अभी तालाबंदी जारी रहेगी. माध्यमिक और उच्च शिक्षण संस्थान कोचिंग संस्थानों में ऑनलाइन पढ़ाई की अनुमति विभागीय आदेशों के मुताबिक होगी. बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षा के शिक्षकों और कर्मचारियों को प्रशासनिक कार्य के लिए विद्यालय आने जाने की अनुमति होगी. इसके लिए विद्यालयों को खोलने की अनुमति दी गई है.

बैंकों बीमा कंपनियों और हर तरह की वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनियों की शाखाएं और कार्यालयों को क्रियाशील रखा गया है. कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आईडी कार्ड के आधार पर खुले रखने की अनुमति दी गई है.

रेस्टोरेंट का क्या हुआ

रेस्टोरेंट्स में होम डिलीवरी की जा सकेगी लेकिन खोलने की अनुमति नहीं होगी. इसके अलावा हाईवे और एक्सप्रेस-वे के किनारे ढाबे तथा ठेले वालों को खोलने की अनुमति 2 गज की दूरी और मास्क के साथ दी गई है.

ट्रांसपोर्ट कंपनियों के कार्यालय, लॉजिस्टिक कंपनियों के कार्यालय और वेयरहाउस को खोलने की अनुमति होगी.

धार्मिक स्थलों में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर एक स्थान पर 5 से अधिक श्रद्धालुओं के ना होने की शर्त पर खोलने की अनुमति दी गई है.

ट्रेवल पर क्या है ख़ास

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बसों की बस का संचालन निर्धारित सीट क्षमता के आधार पर ही किया जायेंगा. बसों में स्टैण्डिंग की अनुमति नहीं होगी. चालक व परिचालक माॅस्क और हाथों में गलब्स का प्रयोग करेंगे. यात्रियों को मास्क अथवा फेस कवर पहनना जरूरी होगा. बसों को समय-समय पर सैनेटाइज किया जायेंगा. उन्होंने कहा कि बस स्टेशन के निकट के स्थान पर 108 एम्बुलेंस सेवा की उपलब्धता इस प्रकार होगी कि आवश्यकता पडने पर तत्काल उसका उपयोग किया जा सकें.

दोपहिया और तीन पहियों पर चलने वाले भी पढ़ लें

डीएम के निर्देश के मुताबिक दोपहिया वाहनों को निर्धारित सीट के अनुसार चलाने की अनुमति होगी. दोपहिया वाहन पर यात्रा करने वाले व्यक्ति को हैलमेट, माॅस्क अथवा फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा. उन्होंने कहा कि तीन पहिया वाहन ऑटो रिक्क्षा चालक के साथ अधिकतम दो यात्री, बैट्री चलित ई रिक्क्षा चालक सहित तीन व्यक्ति तथा चार पहियां वाहनों में केवल 4 व्यक्तियों के बैठने की अनुमति होंगी.

नॉनवेज को परमिशन

जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि अंड़े, मांस और मछली की दुकानों को पर्याप्त साफ-सफाई, सैनेटाइजेशन का ध्यान रखते हुए बंद स्थान अथवा ढके हुए शर्त के साथ खोलने की अनुमति होगी. खुले में कोई भी विक्रय नहीं किया जायेंगा.

कृषि पर क्या हैं आदेश

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में गेहूं क्रय केन्द्र और राशन की दुकानें खुली रहेंगी. कृषि कार्य से सम्बधिंत खाद, बीज, रसायनिक कीटनाशकों तथा कृषि यंत्रों की दुकानें खुली रहेंगी.

वृक्षारोपण अभियान के अन्तर्गत उद्यान विभाग की नर्सरियां को खोलने की अनुमति होगी.

विभागों के लिए भी कड़े हैं आदेश

राजस्व व चकबंदी न्यायालय कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए दो गज की दूरी का पालन कराते हुए खोले जायेंगे. इन न्यायालयों में सुनवाई प्रतिदिन इस प्रकार की जायेंगी जिससे अनावश्यक भीड़ भाड़ न्यायालय परिसर के अंदर व बाहर न रहें. उन्होंने कहा कि बाढ़ तैयारी और ऊर्जा विभाग के कार्यालय खुले रहेंगे. बिजली के बिल काउण्टर भी खुले रहेंगे. जनपद में सभी सरकारी निर्माण में कोविड-19 प्रोटोकाॅल का पालन करना अनिवार्य होगा.

शादियों पर क्या कुछ खास है

अखिलेश सिंह ने कहा कि शादी समारोह व अन्य आयोजन में बंद व खुले स्थानों पर एक समय में अधिकतम 25 व्यक्ति अनुमन्य इस शर्त के साथ होंगे कि वे माॅस्क, दो गज दूरी और सैनेटाइजर का उयोग करेंगे. ऐसे कार्यक्रमों में कोविड प्रोटोकाॅल की अन्य सावधानियों के साथ अनुमति होगी. आयोजन में अतिथियों के बैठने की व्यवस्था में दो गज की दूरी का सख्ती से पालन किया जायेंगा.
आयोजन स्थल पर साफ सफाई और सैनेटाइजेशन की व्यवस्था रखी जायेगी.
किसी भी उल्लघंन के लिए जिम्मेदारी आयोजकों की होगी. उन्होंने कहा कि शव यात्रा में अधिकतम 20 व्यक्तियों को कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए होगी.

जारी रहेगा जागरूकता अभियान

डीएम अखिलेश सिंह ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से जन सामान्य को जागरूक किया जायेगा. जन समान्य से अपेक्षा की कि कोरोना गाइड लाईन का पालन वो स्वयं भी करें तथा दूसरे नागरिकों को करने के लिए जागरूक करें. उन्होंने कहा कि कोविड-19 से लड़ने के लिए सभी को सहयोग देना होगा.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध