चुनाव विधानसभा

केजरीवाल कथा: मैंने देश के लिए अपना सब कुछ छोड़ दिया क्या मैं आतंकवादी हूं, भाजपा गरजी लेकिन केजरीवाल बरसे

नयी दिल्ली : मैने देश के लिए अपना सब कुछ त्याग दिया, डायबिटिक होने के बाद भी अनशन किया, क्या मैं आतंकवादी हूं, या दिल्ली का बेटा हूं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज भाजपा की गरज़ पर खूब बरसे.

भाजपा की ओर से मोर्चा संभाले प्रवेश वर्मा के ब्यान के बाद केजरीवाल ने आज पत्रकारों से वार्ता की. केजरीवाल ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा. केजरीवाल ने मास्टर स्ट्रोक खेलते हुए भाजपा से पूछा कि मैंने अपना पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया, क्या मैं या मेरे पिता आतंकवादी हैं ? यह फैसला मैं दिल्ली की जनता पर छोड़ता हूं. भावनात्मक कार्ड खेलते अरविंद केजरीवाल ने कहा, मैं आईआईटी खड़गपुर से पढ़कर निकला था मेरे नंबर अच्छे थे. मैं चाहता तो विदेश जा सकता था. मेरी क्लास के बहुत सारे लोग विदेश चले गये. मैं समझता था कि इस देश को ठीक करना है तो हमें ही करना है. कई लोगों का मानना था कि इस देश में बहुत कमियां है. मैंने इनकम टैक्स कमिश्नर की नौकरी छोड़ी भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन में हिस्सा लिया, क्या कोई आतंकी ऐसा करता है. मैंने देश के बड़े- बड़े लोगों के भ्रष्टाचार का खुलासा किया क्या कोई आतंकवादी ऐसा करता है?

केजरीवाल ने आगे कहा, भाजपा वाले मुझे आतंकवादी कह रहे हैं. मैंने दिल्ली के विकास के लिए काम किया है. स्कूल खोले, अस्पताल में बेहतर सुविधा दी, दिल्ली के बुजुर्गों के लिए तीर्थ यात्रा का इंतजाम किया, दिल्ली के रहने वाले सिपाही जो शहीद हो जाते हैं उनके बाद मैंने उनके परिवार का ध्यान रखने का फैसला लिया, मैंने अपने बारे में नहीं सोचा, अपने परिवार के बारे में नहीं सोचा. मैंने अपना सबकुछ देश के लिए दे दिया क्या एक आतंकवादी यह सब करता है.? दिल्ली के सीएम ने भावुक होते हुए पूछा, मैं डायबटीज का मरीज हूं. मैंने इस हालत में दो बार अनशन किया. डॉक्टरों ने कहा था कि केजरीवाल 24 घंटे से ज्यादा जिंदा नहीं रहेगा. इन पांच सालों के अंदर मुझे प्रताड़ित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. मैं कल शाम को जब घर गया तो मां-बाप इंतजार कर रहे थे. उन्हें बहुत दुख हुआ कि इस तरह का बयान आ रहा है. मैंने पांच सालों में दिल्ली वालों का बेटा बनकर परिवार की जिम्मेदारी उठाने की कोशिश की है. क्या मैं आतंकवादी हूं?

प्रेस के सामने केजरीवाल के साथ मंच साझा कर रहे संजय सिंह ने कहा कि इस बयान से लोगों को दुख पहुंचा है. इस बयान पर चुनाव आयोग को सख्ती से निपटना चाहिए. यह दिल्ली के दो करोड़ लोगों का अपमान है जिनकी  केजरीवाल जी ने सेवा की है. हम इस बयान को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत कर रहे हैं.  हम चुनाव आयोग से सख्त से सख्त कार्रवाई की उम्मीद करते हैं. उन्होंने कहा कि प्रवेश वर्मा, मनोज तिवारी सहित भाजपा के नेताओं पर कड़ी कार्रवाई की मांग करेंगे.

प्रेस वार्ता से पहले केजरीवाल ने भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा  के आतंकवादी कहने की मीडिया खबरों को ट्विटर पर साझा किया था. राजनीतिक पंडित केजरीवाल की प्रेस वार्ता को मास्टर स्ट्रोक के रूप में देख रहे हैं.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध