टॉप न्यूज़

India Against Corona: देश में लॉक डाउन 3.0, सख्ती के बीच में केंद्र सरकार ने क्या दी है छूट, जानिए आपके इलाके में कितनी है छूट

नई दिल्ली. देश में कोरोनावायरस के प्रभाव के कारण 25 मार्च से 14 अप्रैल प्रथम चरण, 15 अप्रैल से 3 मई दूसरे चरण मे लॉक डाउन के बाद भी कोरोना वायरस की गति देखते हुए केंद्र सरकार ने 1 मई को लॉक डाउन 3.0 की घोषणा कर दी जो आज 4मई से पूरे देश में 17 मई तक के के लिए लागू हो गया. कोविड-19 के जोखिम को देखते हुए केंद्र सरकार ने देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांट दिया था और शर्तों के साथ कुछ गतिविधियों को करने की अनुमति अब दे दी गई है.
केंद्र सरकार के आदेश के मुताबिक शिक्षण संस्थान, राजनीतिक, संस्कृति और सभी प्रकार के एकत्रीकरण कार्यक्रम, आतिथ्य सेवाएं सार्वजनिक धार्मिक या उपासना स्थल बंद रहेंगे. रेल, प्लेन और परिवहन निलंबित रहेंगे लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में विमान रेल और सड़क मार्ग से लोगों की आवाजाही की अनुमति होगी.

रेड ऑरेंज और ग्रीन जोन में बटा देश

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के पत्र का हवाला देते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रेड, ऑरेंज और ग्रीन जनों के वर्गीकरण के अनुसार गतिविधियों को अनुमति दी लेकिन कुछ गतिविधियां ऐसी होंगी जो पूरे देश में बंद रहेंगी. वर्तमान में देश में 130 रेड जोन हैं जिनमें सबसे अधिक 19 उत्तर प्रदेश में और 14 महाराष्ट्र में देश में हैं. ऑरेंज ज़ोन के रूप में 284 और 319 ग्रीन जोन हैं. देश की राजधानी दिल्ली के सभी जिले रेड जोन में है. सरकारी आदेश के अनुसार यदि 21 दिनों तक कोई भी मामला सामने नहीं आता तो वह स्थान रेड जोन से ग्रीन जोन में आ जाएगा.

रेड जोन है हॉटस्पॉट

रेड जोन के अंदर निषिद्ध क्षेत्र में देशभर में प्रतिबंधित गतिविधियों के अलावा साइकिल, रिक्शा, ऑटो रिक्शा टैक्सी जिलों के अंदर और जिलों के बीच बसों की आवाजाही, नाई की दुकान, सैलून स्पा के खुलने पर प्रतिबंध रहेगा. रेड जोन में कुछ गतिविधियों को कुछ कमियों के साथ ही इज़ाज़त दी गई है जिसमें व्यक्तियों एवं वाहनों की सीमित गतिविधियां शामिल हैं जो चार पहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा अधिकतम दो लोग और दोपहिया वाहन पर बस उसे चलाने वाला हो सकता है. विशेष आर्थिक क्षेत्रों, निर्यात के उद्देश्य की इकाइयां, औद्योगिक एस्टेट, औद्योगिक टाउनशिप समेत शहरी क्षेत्रों में औद्योगिक प्रतिष्ठानों में पहुंच नियंत्रण के साथ गतिविधियों को अनुमति दी गई है.

शहरी क्षेत्रों में क्या है अनुमति

शहरी क्षेत्रों में गतिविधियों को अनुमति दी गई है लेकिन शर्त यह है कि श्रमिक निर्माण स्तर पर उपलब्ध हो और बाहर से नहीं आते हों. नवीनीकरण ऊर्जा परियोजनाओं को भी मंजूरी दी गई है. शहरों में सभी गैर जरूरी वस्तुओं के लिए मॉल, बाजारों और बाजार परिसरों को खोलने की अनुमति नहीं होगी लेकिन कालोनियों में एकल दुकानें खुल सकती हैं. ऐसी जगहों पर जरूरी और गैर जरूरी वस्तुओं का भेद नहीं होगा. रेड जोन के बाजार में दुकानों, संस्थानों को बंद रखना होगा लेकिन एकल दुकाने खुलेंगे. रेड जोन में केवल जरूरी वस्तुओं के लिए ई वाणिज्य गतिविधियों की अनुमति है. निजी कार्यालय एक तिहाई श्रमिक के साथ खुल पाएंगे बाकी दो तिहाई घर से काम कर सकते हैं. सभी कार्यालयों में उप सचिव स्तर के ऊपर के शत-प्रतिशत अधिकारी काम करेंगे और बाकी कर्मियों में बस एक तिहाई कार्यालय आएंगे. रेड जोन में ज्यादातर वाणिज्यिक एवं निजी प्रतिष्ठानों की अनुमति दी गई है इनमें प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया आईटी और उससे संबंधित इकाइयां, डाटा एवं कॉल सेंटर प्रशीतन भंडार एवं गोदाम सेवाएं निजी सुरक्षा आदि शामिल हैं.

ऑरेंज और ग्रीन जोन में क्या छूट होगी यह भी समझ लीजिए

ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन में दुकानों को खोलने की इजाजत होगी लेकिन मॉल पर प्रतिबंध जारी रहेगा. ऑरेंज ऑन में रेड जोन की गतिविधियों के अलावा टैक्सी, कैब एग्रीगेटर की अनुमति होगी. उसमें एक ड्राइवर और एक सवारी ही जा सकेंगे. केवल सीमित गतिविधियों के लिए एक जिले से दूसरे जिले में व्यक्तियों एवं वाहनों की आवाजाही की अनुमति होगी. ग्रीन जोन में सीमित प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर बाकी सभी गतिविधियों को अनुमति होगी. बस चल सकती है लेकिन उस में महज 50% यात्रियों हो सकते हैं. स्कूल, कॉलेज एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान, होटल एवं रेस्टोरेंट सहित सत्कार सेवाएं, सिनेमा हॉल, मॉल और खेलकूद परिसर बंद रहेंगे.

शराब के शौकीन पान गुटखा तंबाकू के लिए आदेश

सरकारी आदेश के अनुसार सुबह 7:00 बजे से लेकर शाम 7:00 बजे तक ही जरूरी गतिविधियों के लिए अनुमति होगी. स्थानीय प्रशासन कानून के उपयुक्त प्रावधानों के तहत आदेश धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा जारी करेगा और सख्त अनुपालन सुनिश्चित करेगा. कोविड-19 के सभी जिलों में 65 साल से अधिक उम्र के लोग गंभीर बीमारी के पीड़ितों, गर्भवती महिलाओं, 10 साल से कम उम्र के बच्चों को घर में रहना है. अनिवार्य कार्य इसके अपवाद होंगे. रेड जोन, ऑरेंज ज़ोन और ग्रीन जोन में ओपीडी मेडिकल क्लिनिक को एक दूसरे से दूरी के साथ खुलने की इजाजत होगी. कोविड-19 क्षेत्र में रह रहे लोगों के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल एप आवश्यक है. लॉक डाउन के दौरान सार्वजनिक स्थानों पर शराब पीने, पान, गुटखा,तंबाकू आदि खाने की इजाजत नहीं होगी हालांकि न्यूनतम 6 फुट की दूरी ग्राहकों के बीच सुनिश्चित करने के बाद शराब,पान, तंबाकू की बिक्री करने की इजाजत होगी तथा दुकान पर एक समय में 5 से अधिक लोग नहीं होंगे.

अंतिम संस्कार पर क्या कहती है सरकार

ऐसे कार्यक्रम जहां भीड़ होने की संभावना हो जैसे शादी विवाह सभी को मास्क लगाना होगा. शादी समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करना होगा .आमंत्रित मेहमान 50 से अधिक नहीं होंगे. ऐसे ही अंतिम संस्कार में भी एक दूसरे से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अधिकतम 20 लोग मान्य होंगे.पब्लिक प्लेस पर थूकना दंडनीय अपराध होगा.

लॉक डाउन का पालन न करने पर क्या होगा

केंद्र के द्वारा जारी आदेश के अनुसार यदि कोई भी लॉक डाउन के अनुपालन में कोताही बरतता है या लॉक डाउन को तोड़ता है तो ऐसे व्यक्ति को 1 साल की कैद या जुर्माना दोनों हो सकता है इसके लिए स्थानीय प्रशासन को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध