ट्रेंडिंग न्यूज़

लॉक डाउन में नौकरी चली गई तो घबराइए मत सरकार देगी पैसा! जानिए किसको और कब तक मिलेगा योजना का लाभ?

कोरोना वायरस महामारी के चलते देश में लॉक डाउन है. उद्योग धंधे सब चौपट हैं. ऐसे में कंपनियों के सामने कंपनी को बचाए रखना और उसमें काम करने वालों के सामने अपनी नौकरी को बचाए रखना चुनौती बना हुआ है. लॉक डाउन के चलते कारोबार धीरे धीरे खोला जाएगा. ऐसे में माना जा रहा है कि बड़ी संख्या में प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों की नौकरी पर खतरा है.
इस खतरे के बीच में एक सुकून की खबर भी है अगर आप किसी ऐसी कंपनी में काम कर रहे हैं जहां आपका पीएफ या ईएसआई कटता है तो आपको बिल्कुल भी घबराने की जरूरत नहीं है. सरकार के पास आपके लिए अद्भुत योजना है जिसके तहत आप नौकरी जाने के बाद भी 2 साल तक पैसे ले सकते हैं और अपना जीवन यापन 2 वर्षों तक चला सकते हैं.

किस योजना के तहत मिलेगा लाभ

आप सोच रहे होंगे ऐसी कौन सी योजना है जिसके तहत नौकरी जाने के बाद 2 साल तक आपको सरकार पैसा देगी. तो बता दें इस योजना का नाम अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना है. यह योजना कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत आती है. योजना के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति की नौकरी अचानक चली जाती है तो 24 महीने तक यानी 2 साल तक सरकार उस व्यक्ति को योजना के तहत पैसे देगी. महत्वपूर्ण बात यह है कि इसके लिए योजना में रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है.

कहां से मिलेगी जानकारी और कैसे मिलेगा लाभ

अगर आप इस योजना की जानकारी लेना चाहते हैं तो आपको कर्मचारी राज्य बीमा निगम की वेबसाइट पर जाकर इसकी महत्वपूर्ण जानकारियां इकट्ठी करनी होंगी. योजना के तहत आपको लाभ तभी मिलेगा जब आपने बेरोजगारी के पहले अंशदान की अवधि में कम से कम 78 दिनों तक अपना अंशदान दिया है. यानी कि योजना का लाभ उठाने के लिए कर्मचारी को बेरोजगारी के पहले अंशदान की अवधि में कम-से-कम 78 दिन के अंशदान को जरूरी माना गया है. तभी योजना का लाभ मिल पाएगा. योजना की विशेषता यह भी है कि ईएसआईसी चोट के कारण स्थाई विकलांगता या नौकरी जाने पर 24 महीने के लिए मासिक नगद भुगतान करता है. यदि किसी कारणवश नौकरी जाती है तो यह बड़ा राहत देने वाला होगा.

ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन

योजना का लाभ लेने के लिए इसका रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है.

-सबसे पहले आपको ई एस आई सी की वेबसाइट पर जाकर फार्म को डाउनलोड करना होगाफार्म भरने के बाद कर्मचारी राज्य बीमा निगम के किसी ब्रांच में इसको जमा करना पड़ेगा
-फार्म के साथ ही 20 रुपये के नॉन जुडिशल स्टांप पेपर पर नोटरी एफिडेविट भी देना होगा
-इसके तहत AB-1 से लेकर AB-4 फार्म जमा करवाया जाता है.
-हालांकि अभी ऑनलाइन फॉर्म भरने की सुविधा नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि जल्द ही सरकार इस सुविधा को शुरू कर सकती है.
-यहां यह जान लेना महत्वपूर्ण है कि योजना का लाभ केवल एक ही बार मिल सकता है.


ऐसे लोगों को नहीं मिलेगा योजना का लाभ

अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना स्कीम के तहत ऐसे लोगों को योजना का लाभ नहीं मिलेगा जिन्हें कंपनी ने किसी गलत व्यवहार के चलते बाहर निकाला है या फिर कर्मचारी के ऊपर कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज हुआ हो. दोनों ही तरह के लोग योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे इतना ही नहीं जिन लोगों ने वीआरएस लिया है यानी कि स्वैच्छिक रिटायरमेंट ले लिया है वह लोग भी योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.
आपातकाल के बाद इस योजना का महत्व बढ़ जाता है यदि किसी कारणवश नौकरियों में कमी आती है या निकाला जाता है तो यह योजना महत्वपूर्ण साबित होगी क्योंकि सरकार भी कह चुकी है कि कोरोनावायरस के साथ चलने की आदत डालनी पड़ेगी यदि ऐसी परिस्थितियां होती हैं तो निश्चित तौर पर सोशल डिस्टेंसिंग के तहत छटनी होगी ऐसे समय में या योजना कारगर साबित होगी.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध