टॉप न्यूज़

जमीन के लालच में सगे भांजे ने कराया मामा का क़त्ल, पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

उत्तर प्रदेश का सहारनपुर. जमीन के लालच में एक बार फिर रिश्तों के कत्ल की खबर आई है. थोड़ी सी जमीन के लिए भांजे ने अपने साथी के साथ मिलकर सगे मामा को मौत के घाट उतरवा दिया. पूरा मामला थाना चिलकाना क्षेत्र का है.

थाना चिलकाना पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने गुमटी में किसान की गोली मारकर की गई हत्या के मामले में एक आरोपी को दबोचकर मामले का सनसनी खेज खुलासा कर दिया. बकौल पुलिस मृतक के सगे भांजे ने ही जमीन के लालच में सुपारी देकर उसकी हत्या कराई थी. पुलिस ने आरोपी का चालान काटकर जेल भेज दिया.

क्या बताया एसपी सिटी ने

पुरे मामले को लेकर प्रेस से मुखातिब हुए पुलिस अधीक्षक नगर राजेश कुमार सिंह ने पुलिस लाईन सभागार में पत्रकारों को बताया कि थाना चिलकाना क्षेत्रांतर्गत गांव गुमटी के जंगल में वृद्ध किसान नाथीराम गुर्जर की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जब सुबह के समय वह अपने खेतों पर घूमने के लिए गया था. पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था. उन्होंने बताया कि आज थाना चिलकाना पुलिस व क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने सीओ सदर अजेंद्र यादव व थाना चिलकाना प्रभारी राजेश कुमार भारती के नेतृत्व में कस्बा चिलकाना के सुलतानपुर तिराहा से एक आरोपी सुशील कुमार पुत्र निरंजन निवासी नयागांव थाना नकुड़ को गिरफ्तार कर लिया.

बकौल एसपी सिटी, पूछताछ के दौरान आरोपी सुशील कुमार ने बताया कि उसने अपने रिश्तेदार अंकित पुत्र प्रेमसिंह निवासी ग्राम मुकंदपुर थाना देवबंद से मृतक नाथीराम को जमीन के लालच में रास्ते से हटाने की योजना बनाई थी जिसमें डेढ़ लाख रूपए नगद दिए गए थे तथा शेष ढाई लाख रूपए हत्या करने के बाद देने तय किए गए थे. आरोपी सुशील ने बताया कि नाथीराम रोज सुबह के समय शौच के लिए साइकिल पर अपने खेतों पर जाता था. सुशील का रिश्तेदार होने के कारण अंकित पहले भी कई बार ग्राम गुमटी में नाथीराम के घर आ चुका था. नाथीराम को अंकित पहले से काफी अच्छी तरह जानता था.

साढ़े तीन लाख में क़त्ल की रची गयी शाजिश

सिटी ने बताया कि 19 जुलाई की सुबह नाथीराम की गोली मारकर हत्या करने के बाद अंकित का फोन सुशील के पास आया था जो काम हो जाने पर ढाई लाख रूपए की व्यवस्था करने की बात सुशील से कह रहा था. एसपी सिटी ने बताया कि पूछताछ में सुशील कुमार ने सुपारी देकर अपने मामा की हत्या कराने का जुर्म इकबाल किया. उसने ही जमीन के लालच में आपराधिक षडयंत्र के तहत अपने मामा नाथीराम की हत्या कराई है.

उन्होंने बताया की हत्या के लिए साढ़े तीन लाख की राशी दोनों अपराधियों में तय हुई थी जिसमे ढेढ़ लाख पहले दिए गये थे और बाकि की रकम की बात अंकित फोन पर सुशील से कर रहा था. उन्होंने अंकित की फरारी पर कहा की , हत्यारोपी अंकित की गिरफ्तारी के भी प्रयास किए जा रहे हैं जिसे शीघ्र ही दबोच लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि हत्याकांड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को एसएसपी ने15 हजार रूपए का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध