COVID-19 Live Update

Global Total
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Affected Countries

Total in India
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Cases Per Million

एक्सक्लूसिव

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहारनपुर ने रचा कीर्तिमान, मंडलायुक्त के शब्द जानकर आप भी करेंगे अभिमान

कोरोना को हराने के मामले में सहारनपुर प्रदेश में पहले और देश में आठवें स्थान पर, स्वास्थ्य मंत्रालय में देशभर में जो रेंकिंग जारी की उसमें सहारनपुर कोरोना संक्रमण से प्रभावी रूप से निपटने में पूरी तरह से सफल रहा, सहारनपुर जिले में रिकवरी रेट 86 प्रतिशत है जो प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ है, कमिश्नर ने इस सफलता का श्रेय जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, सीएमओ डा. बीएस सोढ़ी, एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु समेत पूरी टीम को दिया है

सहारनपुर (गौरव सिंघल)। देश और उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण पिछले तीन माह से महामारी के रूप में फैला हुआ है। लोग इस वायरस से बुरी तरह से डरे हुए हैं। सहारनपुर जिले के अच्छी खबर यह है कि कोरोना को हराने के मामले में यह जिला पहले स्थान पर रहा है और पूरे देश में आठवें स्थान पर रहा है। सहारनपुर मंडल के कमिश्नर संजय कुमार ने आज बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने देशभर में जो रेंकिंग जारी की है उसमें सहारनपुर कोरोना संक्रमण से प्रभावी रूप से निपटने में पूरी तरह से सफल रहा है। उन्होंने बताया कि सहारनपुर जिले में रिकवरी रेट 86 प्रतिशत है, जो प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ है। कमिश्नर संजय कुमार ने इस सफलता का श्रेय जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, सीएमओ डा. बीएस सोढ़ी, एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु समेत पूरी टीम को दिया है।कमिश्नर संजय कुमार ने बताया कि सहारनपुर जिले में अब कोरोना संक्रमण के 284 के करीब मामले सामने आए है और इनमें से करीब 245 रोगी पूरी तरह स्वस्थ होकर अपने-अपने घरों को जा चुके हैं और अब करीब 39 मामले सक्रिय हैं। इन 39 रोगियों का उपचार कोविड-19 अस्पताल में किया जा रहा है। अहम बात यह रही कि यहां 284 संक्रमण के मामले सामने के बावजूद एक भी रोगी की मृत्यु नहीं हुई। सभी संक्रमितों का कोविड-19 अस्पताल में बेहतरीन उपचार किया गया। पौष्टिक आहार दिया गया और उन सभी के साथ चिकित्सकों, स्टाफ नर्सों, पुलिस कर्मिचारियों, अधिकारियों ने इतना अच्छा व्यवहार किया कि किसी भी रोगी के मन में इस महामारी से नहीं डरा और कोई भी रोगी इस संक्रमण से अवसाद ग्रस्त नही हुआ। कमिश्नर संजय कुमार ने बताया कि पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से अच्छा काम किया। कोरोना संक्रमितों की तत्काल जांच कराई गई। उनके संपर्कों में आए लोगों को तत्काल ही एकांतवास में रखा गया और जो रोगी उच्च रक्तजाप, बीपी, शुगर के या दिल के रोगी थे, उनको स्वास्थ्य विभाग ने तवज्जो दी। जांच के दौरान अस्पताल में संक्रमितों को च्वयनप्राश खिलाया गया, काढ़ा पिलाया गया, सुपाच्य भोजन दिया गया, बिसलरी का पानी पीने के लिए दिया गया। उन्होंने कहा कि प्रशासन अपनी इस मुहिम में सफल रहा कि रोगियों से संक्रमण अन्य लोगों में नहीं फैल पाया। उन्होंने कहा कि तीन माह की अवधि में जो भी 284 रोगी संक्रमण के सामने आए उनमें से केवल 45 वर्षीय एक महिला सोनिया अरोड़ा नामक जो कैंसर की रोगी थी, को केवल थोड़े समय के लिए वेंटीलेटर की सुविधा प्रदान की गई। वरना किसी भी रोगी को इसकी सहायता लेने की जरूरत नहीं पड़ी। शामली की जिलाधिकारी जसजीर कौर की भी उन्होने सराहना की। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर जिले में मेरठ ओैैर दिल्ली से संक्रमित लोगों के आने के कारण वहां कोरोना का फैलाव हुआ है। उन्होंने मुजफ्फरनगर की जिलाधिकारी से कहा कि वे वहां पूरी सख्ती करें और बाहर से आने जाने वालों पर कड़ी निगरानी रखें और ज्यादा से ज्यादा टेस्ट कराएं जाने पर भी जोर दिया। जिलाधिकारी सहारनपुर अखिलेश सिंह ने बताया कि सहारनपुर में कोरोना संक्रमण के 6 नए मामले सामने आए। जिनमें 3 लोग दिल्ली से और 1 पंजाब से था। जिलाधिकारी ने बताया कि जिला अस्पताल में लगी मशीन से संक्रमितों की जांच शुरू कर दी है। आईआईटी रूडकी कैंपस में पृथकवास में भर्ती दो युवकों की जांच इसी मशीन से की गई है। दोनों के नमूने पाजीटिव निकले हैं। आज संक्रमितों के जो मामले सामने आए हैं में एक दंपत्ति भी शामिल है और एलआईयू विभाग के पुलिस लाइन स्थित एक महिला कांस्टेबल भी कोरोना संक्रमित पाई गई है।

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.