टॉप न्यूज़

किसानों की नई घोषणा सरकार को परेशान कर रही है, जानिए किसानों ने अब क्या कहा है?

3 नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन को 53 दिन हो चुके हैं. लेकिन अभी तक कोई ठोस फैसला सामने नहीं आया है. केंद्र सरकार और किसान नेताओं के बीच कई दौर की वार्ताएं हो चुकी हैं लेकिन सभी विफल, नतीजा सिफर. किसान सरकार को लगातार आंदोलन को तेज करने की चेतावनी दे रहे हैं. वहीं सरकार ने भी बिल वापस न लेने की अपनी मंशा स्पष्ट कर दी है.

धरने पर बैठे किसानों ने अब सरकार को पेशों पेश में डालते हुए 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड के दिन ट्रैक्टर ट्रॉली की परेड करने का ऐलान किया है. जहां 26 जनवरी को सेना के जवान गणतंत्र दिवस की परेड के लिए अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने की कोशिश में है वहीं किसान दिल्ली में ट्रैक्टर ट्राली की परेड निकालने की जिद पर अड़े हैं. दिल्ली की सीमाओं पर किसान आंदोलन को देखते हुए दिल्ली पुलिस विशेष प्लानिंग में लगी है. गणतंत्र दिवस के मद्देनजर दिल्ली पुलिस को अलकायदा और खालिस्तानी जैसे आतंकी संगठन द्वारा राजधानी में अशांति फैलाने की इनपुट मिली है. मामला सामने आने के बाद एनआईए ने कार्यवाही की है.

26 तारीख को किसान परेड का दिल्ली में होगा आयोजन

स्वराज पार्टी के योगेंद्र यादव ने 26 जनवरी को दिल्ली में किसान परेड का आयोजन की बात कहते हुए कहा है कि हम आशा करते हैं दिल्ली और हरियाणा का पुलिस प्रशासन किसानों की ट्रैक्टर रैली परेड में कोई बाधा नहीं डालेगा. चाहे ट्रैक्टर हो या गाड़ी हर वाहन पर राष्ट्रीय ध्वज होगा या फिर किसी किसान संगठन का झंडा होगा. यह परेड आउटर रिंग रोड की परिक्रमा कर आयोजित की जाएगी.

किसान संघर्ष समिति हरियाणा के मनदीप नथवान ने कहा कि पूरी दुनिया की नजर 26 जनवरी के कार्यक्रम पर है. कुछ लोग सरकार की शह पर इस आंदोलन को उग्र करना चाहते हैं. हमारा यह आंदोलन नीतियों के खिलाफ है ना कि दिल्ली के खिलाफ. ऐसा प्रचार किया जा रहा है जैसे दिल्ली के साथ कोई युद्ध होने जा रहा है. उन्होंने आगे कहा कि 26 जनवरी को बड़ी संख्या में किसान शांतिपूर्ण तरीके से अपना हक लेने के लिए दिल्ली आ रहे हैं. सरकार को भ्रम है कि हम इस आंदोलन को तोड़ देंगे. लेकिन हम यह आंदोलन टूटने नहीं देंगे. 18 जनवरी को हम महिला किसान दिवस के रूप में मनाएंगे.

लुधियाना में भी चल रही तैयारियां

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर मार्च के लिए लुधियाना में भी तैयारियां चल रही है. मार्च में हिस्सा लेने के लिए एक लॉख ट्रैक्टर पहुंचाने की जिम्मेदारी ली गई है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध