टॉप न्यूज़

Corona virus effect : क्या आपका जिला है रेड ज़ोन में, जानिये क्या होता है रेड ज़ोन, क्यों अलग हो जाएगा आपका जिला

सहारनपुर/लखनऊ. कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने देश में 3 मई तक लॉक डाउन घोषित किया है. साथ ही साथ संक्रमण के आधार पर जिलों को तीन जोन में बांटा गया है. उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों का संक्रमण के अनुसार वर्गीकरण किया गया है.
जिन जिलों में कोरोना के संक्रमण का प्रभाव अधिक है उन्हें रेड जोन में, जिनमें पॉजिटिव मामले कम हैं उनको ऑरेंज जोन में और जहां कोरोना वायरस का कोई केस नहीं हो उन्हें ग्रीन जोन में शामिल किया गया है. सभी जिलों की समय-समय पर मॉनिटरिंग की जाएगी जिनको घटते बढ़ते मामलों के आधार पर ऊपर या नीचे के जोन में रखा जाएगा. केंद्र सरकार ने उन जिलों की सूची जारी की है जहां बड़े पैमाने पर कोरोना के प्रभाव के चलते हॉटस्पॉट जिला घोषित किया गया है. सरकार ने प्रदेश के 9 जिलों को रेड जोन, 31 जिलों को ऑरेंज जोन और 36 जिलों को ग्रीन जोन में रखा है.

रेड ज़ोन में शामिल जिले

राजधानी लखनऊ आगरा गौतम बुध नगर मेरठ गाजियाबाद सहारनपुर शामली फिरोजाबाद और मुरादाबाद कुल 9 जिलों को रेड जोन में रखा गया है इन 9 जिलों में लॉक डाउन का सख्ती से पालन होगा कोई भी गतिविधि नहीं होगी बहुत ही जरूरी काम पर ही घर से निकलने की छूट होगी.

ऑरेंज जोन में शामिल जिले

ऑरेंज जोन में वह जनपद आएंगे जहां पर पॉजिटिव केस तो मिले थे लेकिन पिछले कुछ दिनों में नया मामला सामने नहीं आया. कहने का तात्पर्य है जहां नए मामले सामने आने बंद हो गए हैं उन्हें ऑरेंज जोन में रखा गया. ऐसे इलाकों में फसल की कटाई समेत कुछ गतिविधियों पर छूट दी जाएगी. मजदूरों को उसी इलाके में काम पर लगाया जा सकेगा जहां के वो हों. बाहर से मजदूर नहीं लाए जा सकेंगे. ऑरेंज जोन के अंदर आने वाले जिले बुलंदशहर, सीतापुर, बस्ती, बागपत, कानपुर शहर, वाराणसी, अमरोहा, बरेली, गाजीपुर, आजमगढ़, हाथरस, मुजफ्फरनगर, जौनपुर, लखीमपुर खीरी, औरैया, बांदा, बदायूं, हरदोई, कौशांबी, मथुरा, मिर्जापुर, रायबरेली, पीलीभीत, बाराबंकी, बिजनौर, प्रयागराज और इटावा शामिल है.

ग्रीन ज़ोन में आने वाले जिले

जो जिले रेड और ऑरेंज जोन में नहीं है अर्थात जहां पर कोई मामला कोरोना का नहीं है उन्हें ग्रीन जोन में रखा गया है. उत्तर प्रदेश के कुल 31 जिले ऐसे हैं जिन्हें ग्रीन जोन में रखा गया है.

क्या अंतर है रेड और ऑरेंज ऑन में

  • जिन इलाकों में कोरोना हॉट स्पॉट केंद्र हैं उन्हें रेड जोन में शामिल किया गया है.
  • जिन इलाकों में कोई भी हॉटस्पॉट एरिया नहीं है उन्हें ऑरेंज ऑन में रखा गया है.
  • रेड जोन को दो भागों में विभाजित किया गया.
  • रेड जोन के कुछ इलाके जहां कोरोनावायरस ब्रेक हुआ है. इसके अलावा रेड जोन जिले में कोरोना के बहुत सारे मरीज सामने आए हैं वहां कलेक्टर बन गए हैं.
  • जबकि ग्रीन ज़ोन में एक भी मामला नहीं है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध