न्यूज़

Corona effect: दिल्ली से लौटे वृद्ध की रिपोर्ट पॉजिटिव, पोते की नेगेटिव

दिल्ली से लौटा ग्रामीण वृद्ध निकला कोरोना पाॅजिटिव, उसके पौत्र का नमूना निकला नेगेटिव

देवबंद निवासी कैंसर पीडित युवक का मामला अभी कोरोना को लेकर संदिग्ध, आज नमूना लेकर जांच को भेजा गया,

एम्स ऋषिकेश से अभी इसकी अधिकृत रिर्पोट प्राप्त नही हुई, रिर्पोट मिलने के बाद ही सही स्पष्ट हो सकेगी स्थिति

देवबंद (गौरव सिंघल)। देवबंद नगर और क्षेत्र के एक वृद्ध ग्रामीण की रिर्पोट कोरोना पाजिटिव आई है जबकि देवबंद के ही कैंसर से पीडित युवक का मामला कोरोना को लेकर अभी संदिग्ध बना हुआ है उसका नमूना आज जांच के लिए भेजा गया है। डा. अथर जमील एवं देवबंद सीएचसी प्रभारी डा. इंद्राज सिंह नेहरा ने मंगलवार को बताया कि 22 मई को दिल्ली से देवबंद के गांव नगली नूर लौटे 70 वर्षीय क्रेशन और उनके पौत्र कार्तिक के नमूने जांच को भेजे गए थे। क्रेशन का नमूना तो कोरोना पाॅजिटिव निकला जबकि उसके पौत्र कार्तिक का नमूना नेगेटिव निकला है। डा. नेहरा ने बताया कि इन दोनो को 23 मई को देवबंद के सर्वोदय ज्ञान पब्लिक स्कूल के पृथकवास में भर्ती कराया गया था। क्रेशन की रिर्पोट पाॅजिटिव मिलने के बाद उन्हें राजकीय मेडिकल कालेज के कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उधर देवबंद नगर के मोहल्ला पत्थर का कुंआ निवासी युवक प्रभात मित्तल गले के कैंसर से पीडित है। उसका एम्स ऋषिकेश में जांच के लिए नमूना लिया गया था। जो पाॅजिटिव निकलने की बात कही जा रही है। लेकिन जब तक एम्स ऋषिकेश से यहां स्वास्थ्य विभाग को अधिकृत रिर्पोट प्राप्त नहीं हो जाती तब तक अधिकारी इसे लेकर किसी नतीजे पर नही पहुंच सकते है। हांलाकि सूचना मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के दल ने प्रभात मित्तल और उसके पिता योगेश अग्रवाल को देवबंद के जामिया तिब्बिया मेडिकल कालेज के पृथकवास केंद्र में भर्ती कर दोनो के आज नमूने लेकर जांच को भेज दिए है। डा. इंद्राज सिंह नेहरा का कहना था कि अभी एम्स से अधिकृत रिर्पोट प्राप्त नहीं हुई है। उसके मिलने के बाद अथवा हमारे द्वारा आज लिए गए नमूने के नतीजे मिलने के बाद हम लोग उचित कार्रवाई करेंगे और यदि पाॅजिटिव निकलते है तो उन्हे कोविड हाॅस्पिटल भेजेंगे। सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार प्रभात मित्तल काफी समय से शामली में रहता था। कैंसर का पता चलने के बाद एक माह पहले ही वह देवबंद अपने घर आ गया था। कई बार वह अपनी जांच कराने प्राइवेट कारो और एंबुलेंस से मेरठ के चिकित्सको और ऋषिकेश एम्स गया था। उसी दौरान उसे कोरोना का संक्रमण होने का अंदेशा लग रहा है।   उधर नागल थाना क्षेत्र के गांव तासीपुर निवासी 19 मई को महाराष्ट्र से लौटे दो सगे भाइयों के नमूने भी पाॅजिटिव निकलने के बाद दोनो को राजकीय मेडिकल कालेज में एकांतवास वार्ड में भर्ती कराया गया। वहीं के 14 लोगों को नागल के जनता इंटर कालेज में बने पृथकवास वार्डों में भर्ती कराया गया। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह के मुताबिक दो रोगियो के नमूने नेगेटिव आने पर उनको सोमवार रात मिर्जापुर ग्लोकल मेडिकल कालेज अस्पताल से घर भेज दिया गया। जिले में अब पाॅजिटिव मामले 217 के करीब हो गए है। इनमें 193 के करीब ठीक हो गए है। सक्रिय मामले अब 24 के करीब बचे है। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में बाहर से आने वाले प्रवासियो को आश्रय स्थलो में रखकर उनके नमूने लेकर जांच को भेजे जा रहे है।

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध