एक्सक्लूसिव

BIG NEWS : आसान शब्दों में समझिए अपने जनपदीय इलाके सील होने के कारण और उसके बाद की व्यवस्था, क्या होगा प्रभाव?

लखनऊ. कोरोना वायरस के प्रभाव के लगातार बढ़ने से सरकार ने आज एतिहात के तौर पर उत्तर प्रदेश के सहारनपुर समेत 15 जिलों के कई इलाकों को पूरी तरह सील कर दिया है. जिन इलाकों में कोरोना के पेसेंट मिले हैं, सरकार ने उन इलाकों को हॉटस्पॉट में रखा है. ऐसे इलाके जहां आज बुधवार रात 12 बजे के बाद व्यवस्थाएं बदल जाएंगी. मास्क के बिना निकलना नामुमकिन होगा. उत्तर प्रदेश सरकार ने इस बाबत गाइडलाइन जारी कर दी है.

वह जिले जहां के इलाकों पर सीलिंग की कार्रवाई हुई है

उत्तर प्रदेश के 15 जिलों में राजधानी लखनऊ के साथ आगरा, शामली, मेरठ, बरेली, कानपुर, वाराणसी, बस्ती, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, महाराजगंज, सीतापुर, बुलंद शहर, फिरोजाबाद और नोएडा शामिल हैं.

जानिए 15 जिलों में कहां कितने हॉटस्पॉट केंद्र

प्रदेश सरकार ने लखनऊ में 8 बड़े चार हो छोटे हॉटस्पॉट, आगरा में 22 हॉटस्पॉट, कानपुर में 12, सीतापुर में एक हॉटस्पॉट, गाजियाबाद में 13 हॉटस्पॉट, शामली, बस्ती,बुलंदशहर में तीन-तीन हॉट स्पॉट, नोएडा में 12 हॉटस्पॉट, वाराणसी, सहारनपुर में चार-चार हॉटस्पॉट, मेरठ में 7 हॉटस्पॉट,बरेली में एक हॉटस्पॉट, फिरोजाबाद में तीन हॉट स्पॉट , महाराजगंज में चार हॉटस्पॉट केंद्र चिन्हित किए गए हैं.

सहारनपुर के चार इलाके जो सील रहेंगे

सहारनपुर में तीन थाना क्षेत्रों के 4 इलाकों में हॉटस्पॉट में रखकर इलाके को पूरी तरह सील रखा जायेगा. किसी के भी आने जाने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा. थाना कुतुबशेर का मोहल्ला बकरी वाला, ढोली खाल, जनकपुरी थाने का माही पूरा हबीबगढ़,थाना मंडी का यहियाशाह पक्काबाग, थाना चिलकाना का गांव दुमझेडा पूरी तरह से सील रहेंगे.

क्या होगा प्रभाव

  • इन इलाकों के सील होने के बाद से राशन की सभी दुकानें बंद रहेंगी.
  • सरकार सीधे घरों में राशन पहुंचाने की व्यवस्था कर रही है.
  • पूरे उत्तर प्रदेश में मास्क के बिना 30 अप्रैल तक किसी को भी घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा.
  • हॉटस्पॉट वाले एरिया में सभी पास स्थगित.
  • जारी किए गए पास की समीक्षा की जाएगी.
  • 31 मई तक कोई बैंक किसी किसान को नोटिस जारी नहीं करेगा.
  • सील इलाकों में किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी.
  • दुकानों पर आने जाने पर प्रतिबंध रहेगा.
  • जिलों में जिनके पास कर्फ्यू पास होगा सिर्फ वही लोग सड़क पर निकल पाएंगे.
  • जरूरत की आवश्यक वस्तुओं को लोगों के घरों तक सीधे पहुंचाया जाएगा.

क्यों लिया सरकार ने कठोर फैसला

सरकार ने फिलहाल यह फैसला 13 अप्रैल तक लिया है जो आज बुधवार रात 12:00 बजे से लागू हो जाएगा. 13 अप्रैल को हालात की समीक्षा के बाद इसको आगे जारी रखना या न रखने पर निर्णय सरकार लेगी. गौरतलब है कि इन 15 जिलों में जमातियों के साथ संपर्क में आए लोगों की रिपोर्ट लगातार पॉजिटिव आ रही थी. संपर्क चयन को तोड़ने के लिए सरकार ने यह कड़ा कदम उठाया है. इतना ही नहीं सरकार ने सील इलाकों के सभी घरों को सैनिटाइज करने का फैसला किया है. इस बंदी के दौरान सरकार संक्रमण के खतरे वाले इलाकों की पहचान भी करेगी.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.