एक्सक्लूसिव टॉप न्यूज़

ALERT: खाली प्लॉट में कूड़ा डाला तो देने होंगे डेढ़ लाख रुपये, होगी कार्रवाई, जानिये निगम का फैसला

  • कोरोना को लेकर नगर निगम ने कसी कमर
  • प्लाट में कूड़ा डालने पर एक लाख तक का जुर्माना

Sankalp Naib

SAHARANPUR. कोरोना से बचाव व सतर्कता के लिए नगर निगम बोर्ड की आपात बैठक से महाअभियान की शुरुआत की गई. बैठक में कोरोना से बचाव के दृष्टिगत कई अहम फैसले लिए गए। अब खाली प्लाट में कूड़ा मिलने पर उसके स्वामी से एक लाख रुपये तक का जुर्माना वसूला जाएगा और कूडा डालने वालों पर भी कार्रवाई होगी.

कोरोना के सबंध में दी जानकारी

जनमंच प्रेक्षागृह में मेयर संजीव वालिया की अध्यक्षता में आयोजित नगर निगम बोर्ड की बैठक में निगम अधिकारियों के अलावा डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ. आनंद ने पार्षदों व समाज के गणमान्य लोगों व सफाई निरीक्षकों को कोरोना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी तथा बचाव की रणनीति पर अनेक फैसले लिए गए.

15 दिन बरते विशेष सर्तकता

बैठक में खाली प्लाटों पर कूड़ा कचरा डालकर गंदगी फैलाने पर उनके स्वामियों पर 50 हजार से एक लाख रुपये तक का जुर्माना लगाने साथ ही कूड़ा डालने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया. इसके अलावा अगले 15 दिनों तक विशेष सर्तकता बरतने हुए सफाई निरीक्षकों व कर्मचारियों को सफाई पर विशेष ध्यान देने और बाहर से आने वाले लोगों का ध्यान रखने के लिए कहा गया.

विदेश से आने वालों पर ध्यान दे

मेयर संजीव वालिया ने कहा कि निगम व पार्षदों की जिम्मेदारी है कि लोगों को कोरोना से बचाव के लिए जागरुक करें और इस बात पर विशेष ध्यान दें कि कौन विदेश से आया है या किसमें संक्रमण के लक्षण हैं. उन्होंने कहा कि सभी को मास्क लगाने की जरुरत नहीं है, कोरोना को लेकर भय का माहौल न बनाए.

हर वायरल कोरोना नहीं

डब्ल्यूएचओ के डॉ. आनंद ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को होने वाला हर वायरल फीवर कोरोना नहीं है, यह भ्रम लोगों में दूर करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि तापमान से भी इसका कोई लेना देना नहीं है. जिन लोगों की कोरोना से मृत्यु हुई है, उनमें अधिकांश वे 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग हैं या जिन्हे पहले से ही कोई गंभीर बिमारियां थी.

शंकाओं का किया समाधान

विधायक प्रतिनिधि विपिन जैन, पार्षद मुकेश गक्खड़, भूरा सिंह प्रजापति, संजय गर्ग, आशुतोष सहगल, चंद्रजीत सिंह निक्कू, अमित त्यागी, पंकज उपाध्याय आदि द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में डॉ. आनंद ने बताया कि इस वायरस का एल्कोहल पीने से कोई लेना देना नहीं है. इस वायरस की जांच सरकारी लैब्स में निशुल्क की जा रही है, लेकिन ये सुविधा अभी सहारनपुर हॉस्पिटल में उपलब्ध नहीं है. परंतु किसी भी किसी ऐसे संभावित रोगी के नमूने लेकर जांच के लिए भेजने की पूरी व्यवस्था है.

कोई अनहोनी नहीं होंगे देंगे

नगरायुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह ने कहा कि हमें संकल्प लेना है कि हम सहारनपुर में कोई अनहोनी नहीं होने देंगे। इससे पूर्व नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ए के त्रिपाठी व पार्षद मंसूर बदर ने भी कोरोना वायरस को लेकर महत्वपूर्ण जानकारियां दी.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध