बोल वचन खास

UP : स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखकर गांव के लोग नदी में कूद गए, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

उत्तर प्रदेश का बाराबंकी. कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में वैक्सीनेशन चलाया जा रहा है. पहले 60 प्लस, फिर 45 प्लस और अब 18 प्लस के लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा रही है. राज्य सरकारों ने 18 साल से ऊपर की उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन को फ्री कर दिया है. केंद्र सरकार पहले से ही फ्री में वैक्सीन लगवा रही है. वैक्सिन सेंटरों पर लंबी लंबी कतारें देखने को मिल रही है. इसी बीच हैरान करने वाला मामला सामने आया है. ग्रामीण क्षेत्रों में लोग अभी भी लोग वैक्सीन से डरे हुए हैं.

क्या है माजरा

राज्य के बाराबंकी के गांव सिसोड़ा से हैरान करने वाला नजारा सामने आया है. गांव में वैक्सीनेशन के लिए पहुंची स्वास्थ्य टीम को देखते ही लोग नदी में कूद गए. माहौल इतना हलचल भरा रहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम को देखते ही गांव में अफरा-तफरी फैल गई. लोग डर के मारे नदी में कूद गए. लोगों के इस व्यवहार से हैरान स्वास्थ्य विभाग की टीम भी घबरा गई. टीम ने हाथ पैर जोड़कर ग्रामीणों को नदी से बाहर निकलने का अनुरोध किया. स्वास्थ्य विभाग की टीम के अनुरोध को देखते हुए लोग बाहर निकले लेकिन वैक्सीन लेने के लिए इसके बाद भी कोई तैयार नहीं हुआ. गांव की आबादी तकरीबन 1500 है. स्वास्थ्य विभाग की टीम के काफी समझाने के बाद केवल 14 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई.

स्वास्थ्य विभाग की टीम के गांव में पहुंचने की सूचना मिलते ही गांव के सैकड़ों लोग सरयू नदी के तट पर जाकर बैठ गए. स्वास्थ्य विभाग की टीम को जैसे जानकारी मिली टीम उन्हें समझाने के लिए सरयू के किनारे पहुंची. लेकिन विभाग की टीम को ग्रामीणों ने पास आता देख नदी में छलांग लगा दी. बहुत समझाने के बाद केवल 14 लोगों ने वैक्सीन ली.

जान लेना महत्वपूर्ण है कि बाराबंकी के रामनगर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से जागरूकता कैंप लगाया गया है. कैंप में मरीजों के लिए ऑक्सीजन बेड भी लगाए गए हैं और इसी कैंप के माध्यम से लोगों को वैक्सीन के लिए जागरूक किया जा रहा है. साथ ही साथ उनका कोविड टेस्ट किया जा रहा है. आस-पास के गांव के लोगों को भी कोविड टेस्ट और वैक्सीन के लिए जागरूक किया जा रहा है. पूरा मामला मीडिया में और आसपास के क्षेत्रों में चर्चा का विषय बना हुआ है.

About the author

Prakash Pandey

Add Comment

Click here to post a comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Follow us @ social media

Follow us @ Facebook

विविध