COVID-19 Live Update

Global Total
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Affected Countries

Total in India
Last update on:
Cases

Deaths

Recovered

Active

Cases Today

Deaths Today

Critical

Cases Per Million

काहे ‘बोलवचन’

काहे ‘बोलवचन’

‘बोलवचन’ एक नाराज़गी है, एक विरोध है व्यवस्था के खिलाफ जो आमजन से दूर और स्वार्थों से भरपूर है.
अब ऐसा देखने मे आता है कि आदमी के नज़रिया ही बदल गया है, उसका तरीका ही बदल गया है. वो सोचता कुछ है, बोलता कुछ है और करता कुछ है.हमने यह निर्णय किया कि हम व्यवस्था का हिस्सा नही बनेंगे, जो सोचते, बोलते हैं वही लिखेंगें मतलब न्यूज और व्यूज दोनों के साथ वो भी जो सामने नही आती और जिसका पार कोई नही पाता है.

‘बोलवचन’ एक उद्घोष होगा बदलाव का, एक आवाज़ होगी राष्ट्र के समर्पण की,एक प्रतिबद्धता होगी सामाजिक सरोकारों से रूबरू करवाने की. भाषा, एटीट्यूड, न्यूज़ सेंस, मोर्डनिटी और अपने नाम के अनुसार ही बेबाक बोल के लिए जानी जाने वाली यह देश की पहली हिंदी न्यूज वेबसाइट है. खबरों के पंचनामे के साथ 360 डिग्री कवरेज भी. इतना ही नहीं एक खबर की पूरी रिपोर्ट और एनालिसिस के साथ-साथ क्विज, पोल, बोलवचन, वीडियो जैसे एडिशनल फीचर्स भी आपकी जिज्ञासा को बनाए रखेंगे,इसका हमें पूरा ख्याल रखा है.

इन मामलों पर रहेगी गहरी निगरानी-

सियासत केवल राजनीति के बयानवीरों तक नही, खेल केवल हारजीत नहीं, खबरें केवल अख़बारी नही.इसलिए हम बेबाक तरीके से तमाम मुद्दों को दिलचस्प बनाकर सुनाते हैं, वो भी भौकाली बाबा की तरह.

‘बोलवचन’ की खासियत है इसकी भाषा,इसका प्रस्तुतिकरण. यंगिस्तान के मिज़ाज को जानकर खबरों को बिल्कुल वैसे ही लिखते हैं जिसमें जुबानी देशी, अंग्रेजी या जो भी बेधड़की झलकती हो.
हम खबरों के पीछे कुदाफानी नही करते लेकिन उनको एक दिशा जरूर देते हैं.
बोलवचन ऐसी खबरों का भी प्रस्तुतिकरण नही करता जिससे समाज मे गलत संदेश जाए.हां
जेंडर, कास्ट, सोशल जस्टिस को लेकर प्रोग्रेसिव और एग्रेसिव जरूर है.
पर्सनल एक्सपीरिएंस से लबालब न्यूज़ के साथ व्यूज़ को रखते हैं जिससे न्यूज़ पढ़ने वाले को नया कांसेप्ट फील होता है.
इन सबके अलावा खबरों का पंचनामा, सियासत की बातें पंचायत की पोलपट्टी, सोशल मीडिया का भौकाल,सब कुछ आपके साथ साझा करेंगे,जो आपका नज़रिया बदल देंगे.
थपड़ियाने से लेकर गरियाने तक, सियाहीबाज़ी से लेकर कपड़ा फाड् फडौवल तक,जो आपको कभी अच्छा लगेगा तो कभी बुरा,सब से रूबरू करवाएंगे.
पाण्डेय जी के बोल आपको कड़वाहट के साथ परिवर्तन के उद्घोष का अहसास करवाएंगे.वहीं किस्से,कहानी, चुटकुलों से आपको गुदगुदाने की कोशिश रहेगी.खास मौकों पर ख़ास जानकारी देने की कोशिश आपके सहयोग से परवान चढ़ेगी.
‘बोलवचन’ मीडिया आप सभी के सहयोग से नए भारत, मज़बूत भारत, एक भारत के सपने को साकार करने की चाहत रखता है जिसे अपने पंचायत, शहर समेत उसके मूल पर गर्व है और कोशिश करता है कि आप सभी भी उसका आनंद लें.